उत्तराखण्डRajya Sabha Chunav 2022: उत्तराखण्ड राज्यसभा चुनाव को लेकर बीजेपी का बड़ा...

Rajya Sabha Chunav 2022: उत्तराखण्ड राज्यसभा चुनाव को लेकर बीजेपी का बड़ा दांव

Rajya Sabha Chunav 2022: राज्यसभा चुनाव को लेकर आज अधिसूचना जारी कर दी गई है. अधिसूचना जारी होने के साथ ही आज से नामांकन का काम शुरू हो रहा है. बता दें कि 15 राज्यों की 57 राज्यसभा सीटों के लिए 10 जून को मतदान होने हैं. इसके लिए 31 मई तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा सकेंगे, नामांकन पत्रों की जांच 1 जून को होगी, फिर 3 जून तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे. इसके बाद 10 जून को सुबह 9 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक वोटिंग होगी. वोटो की गिनती का काम 10 जून को ही शाम 5 बजे से शुरु हो जाएगा.

15 राज्यों की 57 सीटों के लिए होंगे चुनाव

बता दें कि इस साल जून से अगस्त के बीच 15 राज्यों की 57 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो रहा है. जिन अहम नेताओं का कार्यकाल खत्म हो रहा है उनमें केंद्र सरकार में मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, पीयूष गोयल, कांग्रेस नेता जयराम रमेश, कपिल सिब्बल, अंबिका सोनी और बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्र शामिल हैं. इन सभी राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल 21 जून से 1 अगस्त के बीच खत्म हो रहा है.

यूपी में सबसे ज्यादा 11 सीटें

देश में राज्यसभा की 245 सीटें हैं. जिनमें से मौजूदा वक्त में 95 राज्यसभा सदस्य बीजेपी के हैं जबकि कांग्रेस के 29 राज्यसभा सदस्य हैं. राज्यसभा में उत्तर प्रदेश से सबसे अधिक 31 सदस्य हैं. इनमें से 11 राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल 4 जुलाई को खत्म हो रहा है. इसके बाद महाराष्ट्र और तमिलनाडु के 6-6 सदस्यों का कार्यकाल भी समाप्त हो रहा है. उसके बाद बिहार से 5 राजस्थान, आंध्रप्रदेश और कर्नाटक से राज्यसभा के 4-4 सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो रहा है.

मध्यप्रदेश और ओडिशा से राज्यसभा के तीन-तीन सदस्यों का, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, झारखंड, पंजाब और हरियाणा से राज्यसभा के दो-दो सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है. इस बार राज्यसभा चुनाव के बाद बीजेपी के राज्यसभा सदस्यों की संख्या कम हो सकती है.

पंजाब में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद यहां की दोनों सीटों पर आप के उम्मीदवार कब्जा जमा सकते हैं. पंजाब से अकाली दल के एकमात्र राज्यसभा सदस्य बलविंदर सिंह भुंडर और कांग्रेस की अंबिका सोनी का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है.

उत्तराखण्ड में राजयसभा की सीट

वहीँ उत्तराखंड में राज्य सभा संसद प्रदीप टम्टा की सीट भी खाली हो रही है जिसके लिए बीजेपी उत्तराखंड ने अबकी बार अनुसूचित जाति के कोटे से किसी कैंडिडेट को राज्य सभा भेजने की जुगत में है  उत्तराखंड बीजेपी में 2 या 3 चेहरों को राज्य सभा टिकट के लिए दावेदार के रूप में देखा जा रहा है जिसमें सबसे पहला नाम मोहन पाल का है जो अनुसूचित जाति के धनगर समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। मोहन पाल उत्तराखंड के बड़े कुशल उद्योगपति होने के साथ साथ बीजेपी में अनुसूचित जाति मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी रहे हैं व 2012 में भीमताल विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुके हैं।

मोहन पल SC उमीदवार
मोहन पाल

वहीं दूसरी ओर बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेश राठौर को भी दावेदार के रूप में देखा जा रहा है पर एक महिला द्वारा उनपर यौन शोषण का आरोप भी लगा हुआ है जिसका मामला न्यायलय में लंबित है। जिस कारण इनका दावा कमजोर दिख रहा है। अब देखना यह होगा कि बीजेपी हाई कमान किस पर अपना दांव खेलेगा।

 

संबंधित खबरें

प्रमुख खबरें

जरूर पढ़ें

वायरल खबरें