उत्तराखण्डहरिद्वार में आधार कार्ड के नाम पर अवैध वसूली का खेल

हरिद्वार में आधार कार्ड के नाम पर अवैध वसूली का खेल

अपना आधार कार्ड में कोई बदलाव करना है ,तो इसके लिए 50 से ₹100 तक की फीस है, लेकिन हरिद्वार के सिडकुल क्षेत्र में आलम यह हो गया है|

देश के प्रत्येक नागरिक के पास इस समय आधार कार्ड का होना बेहद अनिवार्य है बिना इस आधार कार्ड के वह कोई भी काम प्रॉपर रूप से नहीं कर सकता | यही कारण है, कि केंद्र सरकार लगातार लोगों के आधार कार्ड बनवाने का काम कर रही है, जिसके लिए सीएचसी एवं आधार केंद्र खोले गए हैं, इसके साथ-साथ कुछ बैंकों की शाखाओं में भी आधार कार्ड बनवाने के साथ-साथ बनाए गए कार्ड में हुई किसी गड़बड़ी को ठीक करने की भी पूरी व्यवस्था की गई है

जहां आधार कार्ड बनवाने के लिए किसी भी व्यक्ति को किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना होता वही यदि उसे अपना आधार कार्ड में कोई बदलाव करना है ,तो इसके लिए 50 से ₹100 तक की फीस है, लेकिन हरिद्वार के सिडकुल क्षेत्र में आलम यह हो गया है|

कि सेवा केंद्र पर बैठने वाला व्यक्ति सरकारी नियम कायदे और कानून को ताक पर रख जमकर कई गुना पैसा वसूल रहा है, मानो वह अपने अधिकार का पैसा मांग रहा हूं | गुरुवार को सिडकुल स्थित सलेमपुर चौक पर एक सरकारी सुविधा केंद्र का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें केंद्र संचालक एक आधार कार्ड में रेक्टिफिकेशन के ₹50 की जगह ₹300 मांग रहा है | ग्राहक ने घर के तीन आधार कार्ड ओं में बदलाव कराना है | जिसके लिए उससे ₹900 मांगे जा रहे हैं , हालत यह है कि केंद्र संचालक ₹700 में भी तीन आधार कार्ड में बदलाव करने को तैयार नहीं है जबकि 3 कार्ड का सिर्फ ग्राहक को डेढ़ ₹100 बदलाव के लिए देने होंगे यह हालत किसी एक आधार केंद्र की नहीं है, बल्कि कई ऐसे शहर में आधार केंद्र हैं

जो प्रशासन की नाक के नीचे लोगों से अवैध वसूली करने में लगे हुए हैं ,और अधिकारियों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है कुछ साल पहले तत्कालीन एसडीएम मनीष सिंह की ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद कई आधार केंद्रों को सील किया गया था क्योंकि वहां पर ग्राहकों से अवैध वसूली हो रही थी | लेकिन अब शायद जिले में कोई अधिकारी इस बाबत सुनने और देखने को तैयार ही नहीं है।

एसडीएम हरिद्वार पूरण सिंह राणा का कहना है | कि सेवा केंद्र लोगों को सुविधा मुहैया कराने के लिए हैं, जितने भी सीएचसी और आधार केंद्र ब्लॉक गांव बैंकों में बने हैं, यदि वहां पर लोगों के छोटे-छोटे काम भी समय से नहीं हो रहे हैं |तो इस चीज को हम चेक कर आएंगे हर सेंटर वाला कानून की गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से करेगा | किसी को भी यह अधिकार नहीं है, कि वह किसी को अनावश्यक रूप से परेशान करें या अवैध पैसा वसूल है| जो भी सीएचसी सेंटर वाला लोगों को अनावश्यक रूप से परेशान कर रहा है ,उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

संबंधित खबरें

प्रमुख खबरें

जरूर पढ़ें

वायरल खबरें

%d bloggers like this: