मुंबई के बाद ठाणे में भी परमबीर सिंह के खिलाफ FIR, 2 करोड़ की हफ्ता वसूली का आरोप!

0
323
After Mumbai, FIR against Parambir Singh in Thane too, alleging recovery of 2 crores a week!

महाराष्ट्र,पार्थो सील की रिपोर्ट ।
मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। गुरुवार को मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने की बात सामने आई थी। अब मुंबई(Mumbai) से सटे ठाणे शहर में भी सिंह समेत 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

परमबीर सिंह पर ठाणे शहर के बिल्डर शरद अग्रवाल ने 2 करोड़ रुपए की फिरौती मांगने का आरोप लगाया है। अग्रवाल की शिकायत के बाद ठाणे पुलिस ने यह मुकदमा दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

मुंबई में भी एफआईआर
परमबीर सिंह समेत आठ लोगों के खिलाफ हफ्ता वसूली का मुकदमा मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है। इस एफआईआर में परमबीर सिंह के अलावा पांच अन्य पुलिसकर्मी और दो सिविलियन भी शामिल हैं। सिंह के अलावा क्राइम ब्रांच के एक डीसीपी भी आरोपी बनाये गए हैं।

फिलहाल पुलिस ने दोनों सिविलियन को गिरफ्तार कर लिया है जिनके नाम सुनील जैन और पुनमिया बताए जा रहे हैं। मुकदमा एक बिल्डर श्याम सुंदर अग्रवाल ने इन सभी पुलिस अधिकारियों और सिविलियन के खिलाफ दर्ज करवाया है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 387, 388, 389, 403, 409, 420, 423, 464, 465, 467, 468 समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

गृहमंत्री पर लगाये थे आरोप
परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ सचिन वझे समेत अन्य पुलिस अधिकारियों के जरिए 100 करोड़ रुपए की हफ्ता वसूली का आरोप लगाया था। इस मामले में अनिल देशमुख के खिलाफ सीबीआई और ईडी दोनों ही जांच कर रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने अनिल देशमुख समेत उनकी पत्नी और बेटों को भी ईडी अधिकारियों के समक्ष पेश होकर बयान दर्ज करवाने का समन भेजा था। हालांकि देशमुख परिवार की तरफ से कोई भी अभी तक ईडी के दफ्तर नहीं गया है।

सरकारी आवास के इस्तेमाल पर जुर्माना
परमबीर सिंह ने साल 2015 से लेकर 2018 के बीच ट्रांसफर हो जाने के बावजूद सरकारी आवास पर कब्जा जमाए रखा था। इस वजह से उन पर 24 लाख रुपए का जुर्माना भी सरकार ने लगाया है। परमबीर सिंह पर दो सरकारी आवासों का इस्तेमाल करने का आरोप लगा है। जब वे ठाणे शहर में पुलिस कमिश्नर थे तब वे एक साथ दो सरकारी आवासों का इस्तेमाल कर रहे थे।परमबीर सिंह के खिलाफ साल 2018 में 54लाख 10हज़ार 545 रुपए का जुर्माना लगाया था। जिसमें से उन्होंने 29 लाख 43 हज़ार रुपए का भुगतान कर दिया था। सिंह तब मलबार हिल के नीलिमा अपार्टमेंट में रहते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here